फेफड़ा और दिल की बीमारी के मरीजों को कोरोना का खतरा ज्यादा

नई दिल्ली। पूरी दुनिया में कहर बरपा रहे कोरोनावायरस का प्रकोप भारत में भी रोज बढ़ता जा रहा है। आलम यह है कि घर-घर में कोरोना पहुंचने लगा है। ऐसे में, बुजुर्गो और श्वांस व हृदय रोग, मधुमेह, कैंसर के मरीजों को इस घातक वायरस के संक्रमण से बचाने की जरूरत है क्योंकि विशेषज्ञ कहते हैं कि फेफड़ा और दिल के मरीजों को कोरोना का खतरा डबल यानी दोगुना है। विशेषज्ञ बताते हैं कि कोरोनावायरस फेफड़ा और हृदय को क्षतिग्रस्त करता है, हालांकि राहत की बात है कि भारत में…

Read More

'कोरोना वायरस किसी लैब में बनने की बात गलत'

बीजिंग। जब से कोविड-19 की महामारी फैलनी शुरू हुई है, तभी से अमेरिका जैसे कुछ देश वायरस के स्रोत को लेकर तमाम अफवाहें फैला रहे हैं। जैसे-जैसे वायरस का प्रकोप बढ़ता गया इन देशों ने अपनी जिम्मेदारी से बचने के लिये चीन पर आरोप तेज कर दिए। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप व विदेश मंत्री माइक पोम्पेयो बार-बार कहते रहे हैं कि वायरस वूहान की लैब में तैयार किया गया है। इस सबके बीच तमाम वैज्ञानिक व शोधकर्ता कह चुके हैं कि वायरस कहां से निकला इसे स्पष्ट रूप से नहीं…

Read More

देश में अभी नहीं हुआ कोरोना वायरस का सामुदायिक प्रसार

नई दिल्ली। भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) के महानिदेशक बलराम भार्गव ने गुरुवार को कहा कि राष्ट्रीय स्तर पर कोविड-19 (कोरोनावायरस) का कोई कम्युनिटी ट्रांसमिशन (सामुदायिक प्रसार) नहीं है। भार्गव ने दैनिक प्रेस ब्रीफिंग के दौरान कहा, "सामुदायिक प्रसार को लेकर काफी बहस चल रही है। डब्ल्यूएचओ ने इसकी परिभाषा नहीं दी है। भारत इतना बड़ा देश है और इसका प्रसार बहुत कम है। छोटे जिलों में इसका प्रसार एक प्रतिशत से भी कम है। यह शहरी क्षेत्र में थोड़ा अधिक है। कन्टेनमेंट क्षेत्रों में, यह थोड़ा अधिक हो सकता…

Read More

बिना लक्षण वाले मरीजों की कोरोना रिपोर्ट निगेटिव

बीजिंग। चीन के वुहान शहर के स्वास्थ्य आयोग के अनुसार चीन के वुहान शहर में 14 मई से लगभग 99 लाख लोगों का न्यूक्लिक ऐसिड टेस्ट किया गया, जिसमें कोई भी पुष्ट मामला सामने नहीं आया और लक्षणहीन संक्रमितों की संख्या 300 है। वुहान शहर ने इन 300 संक्रमित लोगों के लार और गले की सूजन के नमूनों को वुहान वायरस रिसर्च इंस्टीट्यूट में भेजा। विशेषज्ञों ने कहा कि यह बात नमूनों में वायरस की मात्रा काफी कम या रोगजनक 'जिंदा वायरस' नहीं होने का प्रतीक है। साथ ही इन…

Read More

चीन की पारंपरिक औषधि से हुआ कोरोना मरीजों का इलाज

बीजिंग। कोविड-19 महामारी की रोकथाम और मरीजों के उपचार में चीनी औषधि ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। आंकड़ों के अनुसार 92 प्रतिशत मरीजों के इलाज में चीनी औषधि का इस्तेमाल किया गया। हूपेई प्रांत के पुष्ट मामलों के उपचार में चीनी औषधि का उपयोग और प्रभावी दर 90 फीसदी से अधिक है। 27 जनवरी को चीनी इंजीनियरिंग अकादमी के सदस्य और थ्येनचिन चीनी औषधि विश्वविद्यालय के प्रमुख चांग पोली चिकित्सा दल के साथ वुहान पहुंचे और चीनी औषधि से मरीजों को बचाने लगे। कोई विशेष पश्चिमी दवा और टीका न होने…

Read More

कोरोना महामारी के चलते मन में आ रहे नकारात्मक विचारों से एेसे बचें

लॉकडाउन में अगर नकारात्मक विचार मन में आएं तो परेशानन हों, यह बेहद स्वाभाविक है। लेकिन इसका मतलब यह नहीं कि हम नकारात्मकता को अपने ऊपर हावी होने दें। लॉकडाउन में भले ही हम कुछ सुविधाओं से अछूते हैं लेकिन यकीन जानिए हमारी स्थिति लाखों अन्य लोगों से कहीं बेहतर है। इसलिए इस बात का शुक्र मनाएं। ऐसे में हमें हमारे आनंद और सुख की परिभाषाएं बदलनी होंगी। पहले बाहर घूमना, फिल्म देखना, दोस्तों के साथ मौज-मस्ती करना हमें खुशी देता था, लेकिन अब लोग अपने परिजनों केसाथ समय बिता…

Read More

क्या दुनिया से जल्द नष्ट होगा कोरोना वायरस, अमरीका ने खोजी एंटीबॉडी

कोरोना वायरस से निपटने के लिए वैक्सीन बनाने के लिए एंटीबॉडीज पर भी तेजी से काम चल रहा है। एंटीबॉडीज शरीर को वायरस से लड़ने में सक्षम बनाती हैं। हाल ही कोरोना से सबसे ज्यादा त्रस्त अमरीका से ही एक खुशखबरी आई है। अमरीकी आर्मी ने कोरोना वायरस से लड़ने के लिए 18 नई एंटीबॉडीज की खोज की है। इतना ही नहीं उन्होंने सार्स वायरस के लिए भी एंटीबॉडीज ढूंढने में सफलता हासिल की है। ऑस्टिन में टेक्सास विश्वविद्यालय के साथ अमरीकी सेना के शोधकर्ताओं ने मानव शरीर में कोरोनावायरस…

Read More

Coronavirus: लॉकडाउन का बुजुर्गों की सेहत पर पड़ रहा नकारात्मक असर

कोरोना वायरस के प्रकोप के कारण लॉकडाउन के चलते घर में रहने वाले बुजुर्गों पर इसका मानसिक और शारीरिक रूप से गहरा असर पड़ा है। बुजुर्गों की दिनचर्या में बदलाव या रुकावट आए तो असहजता के चलते थकान और तनाव भी महसूस होने लगता है। लॉकडाउन का बुजुर्गों की सेहत पर नकारात्मक असर पड़ रहा है। पत्रिका ने हाल ही एक सर्वेके जरिए बुजुर्गों से पूछा था कि वे कैसे अपना समय बिता रहे हैं और खुद को खुश रख रहे हैं। जवाब में ज्यादातर बुजुर्गों ने कहा था कि…

Read More

coronavirus: 'आयुष कवच' एप से घर बैठे ले सकते हैं डॉक्टरी सलाह

आयुष मिशन ने अपने एप 'आयुष कवच' के माध्यम से मरीजों को घर बैठे इलाज की सुविधा प्रदान करनी शुरू कर दी है। एप के माध्यम से फोन करके आयुर्वेद, यूनानी व होम्योपैथी विशेषज्ञों से बीमारियों से बचाव लिए सलाह ली जा सकती है। आयुष मिशन निदेशक राजकमल ने बताया, "इसमें तीनों विधाओं के करीब 230 डॉक्टर सुबह आठ बजे रात आठ बजे तक सलाह दे रहे हैं। तीन दिनों में 1000 से अधिक लोगों ने जानकारी ली है। इस एप पर एक बार में 100 से 150 कॉल रिसीव…

Read More