भौम प्रदोष व्रत : 15 सितंबर को बना है खास संयोग, मिलेगा कई गुना लाभ

भगवान शिव की स्तुति व आशीर्वाद प्राप्त करने का एक प्रमुख पर्व प्रदोष को भी माना जाता है। एक ओर जहां उत्तर भारत में इसे प्रदोष व्रत कहा जाता है, वहीं दक्षिण भारत में इसे प्रदोषम के नाम से जाना जाता है। मुख्य रूप से यह व्रत शिव व शक्ति को समर्पित है। यह व्रत शुक्ल व कृष्ण पक्ष के त्रयोदशी तिथि पर पड़ता है। वर्ष में कुल 24 प्रदोष व्रत पड़ते हैं। प्रत्येक वार के हिसाब से प्रदोष व्रत है। सात वारों के लिए सात व्रत हैं। प्रदोष व्रत…

Read More