Chinese Apps Ban: 59 चाइनीज ऐप्स बंद होने के बावजूद नहीं रुकेगा आपका काम, ये देसी ऐप्स हैं बेस्ट ऑप्शंस

Spread the love

नई दिल्ली: भारत और चीन के बीच से पिछले 1 महीने से चल रही तनातनी ( India China tension )अब भारतीय यूजर्स तक पहुंच चुकी है। दरअसल भारत-चीन तनाव के बीच काफी लंबे समय से चाइनीज ऐप्स डिलीट ( delete Chinese apps ) ( Chinese apps ) ( boycott Chinese apps ) करने की मुहिम चलाई जा रही है। इस मुहिम के बीच अब भारत सरकार ने चाइनीज ऐप्स को भारत ( Chinese Apps banned in India ) में इस्तेमाल करने से बैन कर दिया है। अब भारत में इन एप्स का इस्तेमाल करना पूरी तरह से इल्लीगल होगा। ( 59 Chinese apps banned in India ) भारत में 59 चाइनीज ऐप्स को भारत में बैन कर दिया है।

ये चाइना के बेहद पॉपुलर एप्स से जो भारत में भी कमाल कर रहे थे और इन्हें इंस्टॉल करने वालों की संख्या अरबों में है। इन एप्स में कई बेहद ही पॉपुलर ऐप शामिल हैं जिनमें टिक टॉक सबसे ऊपर है क्योंकि युवाओं में इस ऐप को लेकर जबरदस्त क्रेज था लेकिन अब भारत में यह ऐप अपने स्मार्टफोन में रखना पूरी तरह से गैरकानूनी है और आपको यह ऐप रखने की इजाजत नहीं होंगी।

अब लोगों के मन में यह सवाल उठ रहा है कि आखिरकार वह इन एप्स का क्या ऑप्शन निकालेंगे। तो आप लोगों को परेशान होने की जरूरत नहीं है क्योंकि आज हम भारत सरकार द्वारा बैन किए गए चाइनीज ऐप्स के ऑप्शंस आपको बताने जा रहे हैं जो आपको देसी ऐप्स में मिल जाएंगे। हम आपको ऐसे गैर चाइनीज ऐप्स के बारे में बताने जा रहे हैं जो आपके काम को रुकने नहीं देंगे। ( Chinese app and alternatives )

सरकार द्वारा बैन किए गए इन ऐप्स में अधिकतर यूटिलिटी ऐप्स थे जिन्हें लोगों का काफी अच्छा रिस्पांस मिला था और यह आपके काफी काम आसान कर देते थे।

टिकटॉक: भारत में टिक टॉक बेहद ही पॉपुलर है। आपने वीडियो बनाता है टिक टॉक में अपलोड करते थे जिन्हें लाखों की संख्या में व्यूज मिलते थे। इस ऐप के बहन होने के बाद टिकटोक यूजर्स काफी परेशान नजर आ रहे हैं लेकिन आपको परेशान होने की जरूरत सच में नहीं है क्योंकि हम आपको इन एप्स का ऑप्शन बताने जा रहे हैं जो आपको गूगल प्ले स्टोर में आसानी से मिल जाएगा। इस ऐप के भारत में करीब 10 करोड़ एक्टिव यूजर्स हैं। लेकिन अब आप इसकी जगह पर शेयरचैट व चिंगारी ऐप का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। शेयरचैट देश के 1000 से भी ज्यादा शहरों में उपलब्ध है और 15 से ज्यादा भाषाओं में काम करता है। यह दोनों ऐप पूरी तरह से भारतीय हैं जो काफी अच्छी खबर है।

CamScanner: बहुत सारे कादरी डाक्यूमेंट्स होते हैं जिन्हें आप अपने स्मार्टफोन से कहीं दूसरी जगह भेजना चाहते हैं ऐसे में आपको इन्हें डिजिटली कन्वर्ट करने के लिए स्कैन करना पड़ता है। डाक्यूमेंट्स को स्कैन करने के लिए आपको एक स्कैनर की जरूरत पड़ती है और ऐसे में कैमस्कैनर लोगों के बीच काफी पॉपुलर हुआ हालांकि अब बैन हो जाने की वजह से आप इसका इस्तेमाल नहीं कर पाएंगे इसके बावजूद आपका काम नहीं रुकेगा क्योंकि इस ऐप का देसी ऑप्शन भारत में मौजूद है। इस ऐप के दौरान होने के बाद अब आप एडोब स्कैन, माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस लेन्स का इस्तेमाल कर सकते हैं।

Xender और ShareIT: इन दोनों ही एप्स का इस्तेमाल बड़ी डेटाफाइल्स को ट्रांसफर करने के लिए किया जाता है। पर ऐसा होता है की बड़ी फाइल्स को शेयर करना काफी मुश्किल हो जाता था और ऐसे में लोग इन दोनों एप्स की मदद लेते थे। यह दोनों एप्स ज्यादातर लोगों के स्मार्टफोन में रहते हैं लेकिन अब यह पूरी तरह से बैन हो गए हैं ऐसे में हम आपको इन एप्स का देसी ऑप्शन बताने जा रहे हैं। इन एप्स के बैन हो जाने के बाद अब आप Dropbox का इस्तेमाल कर सकते हैं। आप ठीक उसी तरह से काम करता है जैसा कि चाइनीज ऐप्स करते हैं।

Club Factory और Shein: भारत में कई पॉपुलर ई-कॉमर्स साइट है लेकिन इनमें से क्लब फैक्ट्री और शीन ये दो ऐप्स ऐसे हैं जिन्हें ज्यादातर लोग इस्तेमाल करते थे।
इन दोनों ही एप्स पर प्रोडक्ट्स को काफी कम कीमत में खरीदा जा सकता था हालांकि इन दोनों ही एप्स के प्रोडक्ट की क्वालिटी को लेकर कई बार सवाल भी खड़े हो चुके हैं क्योंकि क्लब फैक्ट्री एप के ज्यादातर प्रोडक्ट्स नकली होते थे और इन को लेकर कई बार शिकायत भी सामने आ चुकी है ऐसे में अब आप इनका इस्तेमाल नहीं कर पाएंगे। इन एप्स की जगह पर आप फ्लिपकार्ट, अमेज़न और मिंत्र ऐप का भी इस्तेमाल कर सकते हैं यह आप ना सिर्फ सुरक्षित है बल्कि इन पर आपकी जरूरत का ज्यादा से ज्यादा सामान मिल जाता है।

Virus Cleaner: यह स्मार्टफोन्स के लिए एक एंटी-वायरस ऐप है। अब इसके बैन होने के बाद आप प्लेस्टोर से कई तरह के एंटी-वायरस ऐप डाउनलोड कर सकते हैं। इस ऐप को इंस्टॉल करने की जगह अब आप Avast Antivirus भी डाउनलोड कर सकते हैं। यह वायरस क्लीनर से ज्यादा अलग नहीं है और काम भी वही करता है खास बात ये चाइनीज ऐप नहीं है। इसलिए आप इस ऐप का इस्तेमाल आसानी से अपने स्मार्टफोन में कर सकते हैं।

Kwai, Helo, Likee, Bigo Live: भारत में युवाओं को इन एप्स में काफी दिलचस्पी लेते हुए आप सभी ने देखा होगा। भारतीय युवाओं में यह एप्स बेहद पॉपुलर है जिसमें आप वीडियो बनाकर शेयर कर सकते हैं। कैपिलेरिटी के मामले में इन एप्स का कोई जवाब नहीं था लेकिन चाइनीज ऐप्स होने की वजह से अब इन्हें भी पूरी तरह से बैन कर दिया गया है और अब अगर आपके फोन में यह एप्स मौजूद हैं तो इसे गैरकानूनी माना जाएगा ऐसे में भलाई इसी बात में है कि इन एप्स को जल्द से जल्द आप अपने स्मार्टफोन से डिलीट कर दें।

UCBrowser और Apus Browser: भारत में यूसी ब्राउजर काफी लंबे समय से लोगों के बीच पॉपुलर है इसके साथ ही आपस ब्राउज़र लोगों द्वारा इस्तेमाल किया जाता रहा है। हालांकि अब आप इन एप्स का इस्तेमाल नहीं कर पाएंगे इसलिए आपको तुरंत ही अपने स्मार्टफोन से इन्हें रिमूव कर देना चाहिए। इनकी जगह आाप गूगल क्रो, ब्रेव और अन्य ब्राउजर का इस्तेमाल कर सकते हैं।

UCNews: अगर आप खबरें पढ़ने के शौकीन है तो गूगल प्ले स्टोर पर कई सारे ऐप्स मौजूद है खासकर कि जितने भी न्यूज पोर्टल्स और न्यूज़ चैनल है उन सब के भी एप्स मौजूद हैं ऐसे में आपको यूसी एप अपने स्मार्टफोन में रखने की जरूरत नहीं है क्योंकि यह पूरी तरह से चाइना निर्मित ऐप है और यह पूरी तरह से सुरक्षित भी नहीं है।

खास बात यह है कि इन एप्स के अलावा भी बहुत सारे ऐप्स है जिन्हें भारत सरकार ने पूरी तरह से भारत में बैन कर दिया है। अगर आप इनमे से कोई ऐप इस्तेमाल करते हैं तो आपको परेशान होने की जरूरत नहीं है क्योंकि गूगल प्ले स्टोर पर ढूंढने पर आपको इन हर एक आपके लिए चार से पांच देसी विकल्प जरूर मिल जाएंगे।



Read More
Source Link

Related Stories