Mukesh Ambani ने शेयरधारकों को लिखा लेटर, बता दिया अपना Future Plan

Spread the love

नई दिल्ली। रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड ( Reliance Industries Limited ) के चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक मुकेश अंबानी ( Mukesh Ambani ) ने शेयरधारकों लिखे एक पत्र में कहा है कि कंपनी सऊदी अरामको ( Saudi Aramco ) के साथ एक रणनीतिक साझेदारी के स्वरूप को पूरा करने के लिए काम कर रही है। अंबानी ने वित्त वर्ष 2019-20 के लिए आरआईएल की वार्षिक रिपोर्ट ( RIL Annual Report ) में शेयरधारकों को लिखे पत्र में कहा है कि ऊर्जा कारोबार ( Energy Business ) में रिलायंस सऊदी अरामको के साथ एक रणनीतिक साझेदारी की रूप-रेखा को पूरा करने के लिए काम कर रही है।

SBI Alert: एक Email आपके Bank Account को कर सकता है खाली, जानिए कैसे हो सकता है फ्रॉड

रिलायंस और बीपी एकसाथ
उन्होंने कहा कि यह साझेदारी हमारी रिफाइनरीज को मूल्यवान क्रूड ग्रेड्स के एक व्यापक पोर्टफोलियो तक पहुंच सुलभ कराती है और तेल से रसायन में एक उच्च परिवर्तन के लिए संवर्धित फीडस्टॉक सुरक्षा मुहैया कराती है। ईंधन कारोबार में रिलायंस और बीपी ने पूरे भारत में खुदरा सर्विस स्टेशन का नेटवर्क और विमानन ईंधन कारोबार विकसित करने के लिए एक नया संयुक्त उद्यम गठित किया है।

New Delhi में नई ऊंचाई पर पहुंचा Gold, New York में 8 साल के उच्चतम स्तर पर

रिलायंस जियो की महत्वपूर्ण भूमिका
अंबानी ने कहा कि वित्त वर्ष 2019-20 के दौरान रिलायंस ने अपनी विकास यात्र के अगले चरण को कार्यान्वित किया, और सभी कारोबारों में रूपांतरकारी साझेदारियां की। उन्होंने कहा कि भारत के डिजिटल रूपांतरण में रिलायंस जियो की महत्वपूर्ण भूमिका को पहचानते हुए वैश्विक प्रौद्योगिकी दिग्गजों माइक्रोसॉफ्ट और फेसबुक ने हमारे साथ साझेदारी की है। अंबानी ने कहा कि फेसबुक के साथ साझेदारी का रणनीतिक फोकस अनौपचारिक सेक्टर में भारत का सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम (एमएसएमई), किसान, छोटे व्यापारी और लघु एवं मध्यम उद्यम (एसएमई) हैं।

Bank और Unemployment Rate के आंकड़ों से Share Market में तेजी, करीब 100 दिनों के उच्चतम स्तर पर Sensex

भारत की पहली कंपनी है आरआईएल
रिलायंस भारत की सबसे बड़ी और सर्वाधिक लाभकारी निजी क्षेत्र की कंपनी है। रिलायंस एकीकृत ऊर्जा मूल्य श्रंखला में लगातार एक महत्वपूर्ण वैश्विक खिलाड़ी बनी हुई है और भारत में खुदरा व डिजिटल सेवाओं में नेतृत्वकारी स्थिति बनाए हुए है। आरआईएल भारत की पहली कंपनी है, जिसने बाजार पूंजीकरण में 100 खरब रुपये को पार कर लिया है और मजबूत घरेलू और अंतर्राष्ट्रीय क्रेडिट रेटिंग बरकरार रखे हुए है।



Read More
Source Link
Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by CurrentIndia.net. Source: Patrika.com

Related Stories