Corona Impact: इस साल नहीं मिल पाएगा घरों का पजेशन, 4.66 लाख home buyers को लगेगा झटका

Spread the love

नई दिल्ली : कोरोना की वजह से इस साल कई लोगों की शादियां postpone हो गई, तो कई लोगों के अप्रेजल्स रोक दिये गए। बच्चों की नी क्लास की पढ़ाई रूकी पड़ी है। यानि कहें तो लगभग पूरी दुनिया थम सी गई है। अब home buyers जिन्हें इस साल अपने घरों के पजेशन मिलने थे उनके लिए बुरी खबर है। ग्‍लोबल प्रॉपर्टी कंसल्‍टेंट फर्म एनारॉक ( Property consultant firm ANAROCK ) ने अपनी एक रिपोर्ट में कहा है कि दिल्ली मुंबई और कोलकाता समेत देश के टॉप 7 शहरों में घरों के पजेशन में देरी ( CORONA DELAYED DELIVERY ) हो सकती है। इससे 4.66 लाख home buyers के ऊपर असर पड़ेगा।

रिपोर्ट में कहा गया है कि कोविड-19 के चलते लगाए गए लॉकडाउन की वजह से प्रोजेक्ट्स को पूरा ( projects delayed ) करने में देरी होगी। अधिकतर राज्यों ने अपने यहां पजेशन डेट ( home possession delayed ) को आगे बढ़ा दिया है।

दुनिया के टॉप 10 रईसों में आने वाले मुकेश अंबानी को 12 साल से नहीं मिला Increment, जानें कितनी है सैलेरी

कहां कितने घरों की डिलीवरी देनी थी-

दिल्ली-एनसीआर, मुंबई और बेंगलुरु में करीब एक-एक लाख से अधिक मकानों की डिलीवरी 2020 में देना तय था। जबकि पुणे में 68,800, कोलकाता में 33,850, हैदराबाद में 30,500 और चेन्नई में 24,650 मकानों की डिलीवरी इसी साल देना तय था ।

आपको मालूम हो कि 2020 में 4.66 लाख और 2021 में 4.12 लाख घरों की डिलीवरी देनी है। ये प्रोजक्ट्स 2013 में शुरू हुए थे और फिलहाल अपने अंतिम फेज में थे।

एनारॉक के चेयरमैन अनुज पुरी का कहना है कि श्रमिकों की समस्या से निपटने के लिए सरकार को हस्तक्षेप करने की जरूरत है। इसके साथ ही उन्होने कहा कि प्रोजेक्ट्स को वापस शुरू करने में टाइम लगेगा और ये बात सभी पर लागू होती है।

Delhi – NCR में देनी है सबसे ज्यादा डिलीवरी-

2020 और 2021 में सबसे अधिक परियोजनाओं को एनसीआर ( DELHI-NCR ) में पूरा करना है। जिसमें से 2.40 लाख यूनिटों का कंस्‍ट्रक्‍शन होना अभी बाकी है और ये सारे प्रोजेक्ट्स फिलहाल लेट हो चुके हैं।



Read More
Source Link

Related Stories