2030 तक 100 मिलियन टन कोयले को गैस में बदलने का लक्ष्य, जानें Coal Block Auction में पीएम मोदी द्वारा कही बड़ी बातें

Spread the love

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री मोदी ने आज वीडियो कांफ्रेसिंग के जरिए 41 Coal ब्लॉक्स की नीलामी ( coal mine auction ) प्रक्रिया में भाग लिया। इस दौरान पीएम मोदी ( pm modia )ने एक बार फिर से आपदा को अवसर में बदलने की बात दोहराते हुए देश के उद्योग जगत से आत्मनिर्भर बनने की अपील की। पीएम ने कहा कि आपदा कितनी भी बड़ी क्यों न हो हम उसमें अवसर ढूंढ लेंगे। चलिए आपको बताते हैं कि इस मौके पर pm modi द्वारा कही बड़ी बातें-

दिया आत्मनिर्भरता का मंत्र-

पीएम मोदी ने आत्मनिर्भर बनने का रास्ता दिखाते हुए आय़ात पर निर्भरता को कम करने की बात कही। आत्मनिर्भर भारत यानि भारत को आयात न करना पड़े, इसके लिए देश में साधन और संसाधन विकसित किये जाएंगे। आयात को कम करके हम अपनी विदेशी मुद्रा को बचाएंगे।

2030 तक 100 मिलियन टन कोयला बनेगा गैस- आत्मनिर्भरता का गुरूमंत्र देने के साथ ही पीएम मोदी ने कहा कि हमने 2014 से अब तक इस सेक्टर में सुधार के लिए कई काम किये हैं । अब हमारा लक्ष्य 2030 तक करीब 100 मिलियन टन कोयले को गैस में बदलने का है।

20 हजार करोड़ रुपए का निवेश- कोल सेक्टर को निर्यातक बनाने और इस सेक्टर में जरूरी रिफार्म्स को लागू करने के लिए 2030 तक अर्थव्यवस्था के इस कोर सेक्टर में 20 हजार करोड़ रूपए का निवेश किया जाएगा। इसके लिए 4 प्रोजेक्ट्स की पहचान भी की जा चुकी है।

कोल सेक्टर होगा अनलॉक- इसके साथ ही पीएम मोदी ने कहा कि आज हम सिर्फ कोल ब्लॉक्स की नीलामी ( coal mines ) प्रक्रिया को शुरू नहीं कर रहे हैं बल्कि कोल सेक्टर को अनब्लॉक कर रहे हैं। उन्होने कहा कि एक मजबूत माइनिंग ( coal mining ) और मिनरल सेक्टर के बिना आत्मनिर्भर भारत संभव नहीं है। इन रिफॉर्म्स के बाद अब कोल प्रोडक्शन, पूरा कोल सेक्टर भी एक प्रकार से आत्मनिर्भर हो पाएगा।

सरकारी कर्मचारियों को केंद्र का तोहफा, पुरानी पेंशन स्कीम चुनने की इजाजत

निर्यातक न होने पर उठाए सवाल-

इसके साथ ही उन्होने दूसरा सबसे बड़ा कोयला ( coal ) उत्पादक होने पर भी निर्यातक न होने की भूमिका पर भी सवाल उठाए। पीएम ने कहा, "जो देश कोल रिजर्व ( Coal Reserve ) के हिसाब से दुनिया का चौथा सबसे बड़ा देश हो, जो दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा उत्पादक हो, वो देश कोयले का निर्यात नहीं करता बल्कि वो देश दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा कोयला आयातक है।"

लोगों को मिलेगा रोजगार- पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि देश में 16 जिले ऐसे हैं, जहां कोयले के बड़े-बड़े भंडार हैं, लेकिन इनका लाभ स्थानीय लोगों को नहीं हुआ है । यही वजह है कि लोग अपने घरों से दूर बड़े शहरों में रोजगार के लिए जाते हैं। इन कोल ब्लॉक्स स्थानीय लोगों को रोजगार के अवसर मिलेंगे और वहां विकास भी हो सकेगा।



Read More
Source Link
Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by CurrentIndia.net. Source: Patrika.com

Related Stories