Gautam Gambhir बोले, Mahendra Singh Dhoni कई रिकॉर्ड तोड़ सकते थे, एक चूक से मिस कर दिया

Spread the love

Mahendra Singh Dhoni का एकदिवसीय क्रिकेट में 50 से अधिक का औसत है। निचले क्रम पर बल्लेबाजी करते हुए उन्होंने 10,773 रन बनाए हैं।

नई दिल्ली : टीम इंडिया (Team India) के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (Mahendra Singh Dhoni) को दुनिया के महानतम विकेटकीपर बल्लेबाजों में शुमार किया जाता है। इसके अलावा उन्हें टीम इंडिया का बेहतरीन कप्तान भी माना जाता है। मौके की नजाकत के हिसाब से वह बल्लेबाजी करने में माहिर हैं। इस कारण उन्हें बेहतरीन फिनिशर भी माना जाता है। इतना ही नहीं, धोनी टीम इंडिया के इकलौते ऐसे कप्तान हैं, जिनके खाते में टी-20 विश्व कप (T20 World Cup), एकदिवसीय विश्व कप (ODI World Cup) और चैम्पियंस ट्रॉफी (Champions Trophy) यानी आईसीसी के तीनों बड़े खिताब हैं। उनके साथ खेल चुके पूर्व सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर (Gautam Gambhir) का मानना है कि महेंद्र सिंह धोनी का अभी जितना शानदार रिकॉर्ड दिख रहा है, वह उससे भी बेहतर होता। अगर उन्होंने एक बड़ी चूक नहीं की होती। वह काफी रिकॉर्ड तोड़ते।

5 छक्कों ने Yuvraj Singh को किया 15 दिन तक परेशान, नींद उड़ गई थी, 13 साल बाद किया खुलासा

विकेटकीपिंग ही नहीं, शानदार बल्लेबाज भी

धोनी शानदार विकेटकीपर तो हैं ही, लेकिन उनकी चर्चा उनकी शानदार बल्लेबाजी के लिए भी होती है। एकदिवसीय क्रिकेट में उनका औसत 50 से अधिक का है और निचले क्रम पर बल्लेबाजी करते हुए उन्होंने 10,773 रन बनाए हैं। किसी निचले क्रम के बल्लेबाज का 10 हजार के आंकड़े तक पहुंचना अविश्वसनीय लगाता है। इसी पर बात करते हुए गंभीर ने एक खेल शो में कहा कि अगर धोनी नंबर तीन पर बल्लेबाज करते तो वह कई और रिकॉर्ड अपने नाम कर लेते। गंभीर ने कहा कि धोनी को अगर कप्तानी नहीं दी जाती तो वह ऊपरी क्रम में बल्लेबाजी करते और उनके नाम कितने और रिकॉर्ड होते।

Irfan Pathan बोले, Team India के पास चैम्पियन बनने के लिए सबकुछ, सिर्फ योजना नहीं

विश्व क्रिकेट में अलग खिलाड़ी होते धोनी

गौतम गंभीर ने कहा कि शायद क्रिकेट की दुनिया ने एक शानदार चीज मिस कर दी। धोनी ने अगर तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी की होती तो तो शायद विश्व क्रिकेट ने एक अलग ही खिलाड़ी देखा होता। गंभीर ने कहा कि उनके खाते में शायद इससे कहीं ज्यादा रन होता और उन्होंने काफी सारे रिकॉर्ड तोड़े होते। इसके आगे गौतम गंभीर ने यह भी कहा कि अगर उन्होंने टीम इंडिया की कप्तानी नहीं की होती तो बहुत अलग और बेहतरीन खिलाड़ी होते, जो नंबर तीन पर बल्लेबाजी करते। उन्होंने कहा कि वह आज के वक्त की गेंदबाजी आक्रमण के सामने तीसरे नंबर पर बल्लेबाज करते। श्रीलंका, बांग्लादेश या वेस्टइंडीज गेंदबाजों की हालिया स्थिति देख लीजिए। इनके सामने धोनी ने न जाने कितने ही सारे रिकॉर्ड तोड़े होते।



Read More
Source Link

Related Stories