sushant singh rajput ने आत्महत्या करने से पहले किया था महेश शेट्टी को फोन, एक्टर ने किया बड़ा खुलासा

Spread the love

नई दिल्ली। असमय ही दुनिया से अलविदा कह चुके बॉलीवुड एक्टर सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput death) हर किसी को हमेशा याद आएंगे। इस एक्टर ने काफी समय में ही अपने अभिनय के दम से हर किसी के दिल में खास जगह बना लगी थी। जिसकी वजह से इनका नाम हर किसी की जुंबा पर छाया रहता था। इनकी अचानक मौत से ना केवल परिवार दुखी है बल्कि इनके फैंस भी सदमें में हैं।

सुशांत सिंह राजपूत(RIPsushant singh rajput) के सबसे नजदीक रहे दोस्त महेश शेट्टी ने उनकी मौत के बाद एक खुलासा किया है। जिसमें उन्होंने बताया कि सुशांत(sushant singh rajput depression) भले ही डिप्रेशन में थे लेकिन कुछ दिनों से वो अपनी (Depression) की दवाइयों को नही ले रहे थे। उन्होंने इस बात का भी खुलासा किया गया है कि महेश शेट्टी ही वो आखिरी शख्स हैं जिसे सुशांत (sushant singh last call )ने आत्महत्या करने से पहले फोन किया था। हालांकि, किसी कारण से महेश उनके फोन को उठा नही पाए जिससे उनकी आखिरी बात उनसे ना हो सकी।

sushant-singh_final.jpg

'पवित्र रिश्ता' में दोनों ने साथ में किया था काम

सुशांत सिंह की महेश शेट्टी के साथ दोस्ती टीवी शो 'पवित्र रिश्ता' में काम करने के दौरान हुई थी। सेट में क साथ काम करने के कारण दोनों में गहरी दोस्ती हो गई थी। माना जाता है कि सुशांत और महेश एक भाई जैसे थे। इन दोनों के रिश्ते इतने गहरे थे कि सुशांत अपने दिल का हर दर्द महेश के साथ शेयर करते थे।

सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद महेश ने मीडिया में यह खुलासा किया है कि सुशांत ने पिछले कुछ दिनों से डिप्रेशन को कम करने वाली दवाइयां लेनी बंद कर दी थीं क्योंकि उनका मानना था कि वे अब ठीक हैं।

अभी तक नहीं पता चल सका डिप्रेशन का कारण

सुशांत सिंह राजपूत के डिप्रेशन में आकर आत्महत्या कर लेने पर बॉलीवुड में कई बड़े सवाल खड़े कर दिए है हर किसी के मन में बस यही सवाल अटक रहा है कि आखिर सुशांत ने ऐसा आत्मघाती कदम कैसे उठा लिया? यदि मौत का कारण डिप्रेशन ही है तो डिप्रेशन किस कारण से शुरु हुआ, सबके मन में बार-बार यही सवाल आ रहा है।

सुशांत सिंह राजपूत के अंतिम संस्कार के लिए उनका परिवार पटना से मुंबई पहुंचा। जहां शाम चार बजे के करीब उनका अंतिम संस्कार कर दिया गया है।



Source Link

Related Stories