कोरोनावारस : इम्युनिटी बढ़ाने के लिए अब सैशे में मिलेगा आयुष क्वाथ

Spread the love

नई दिल्ली। कोरोना वायरस को लेकर सुर्खियों में चल रहे आयुष क्वाथ का इंतजार अब खत्म हो गया है। यह इम्युनिटी बूस्टर पहली बार सबसे छोटे रूप सैशे यानी छोटे पाउच में पेश किया गया है जिससे हर तबके के लोग इसका आसानी से इस्तेमाल कर सकें। इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए आयुष क्वाथ को आयुष मंत्रालय के साथ ही आयुर्वेदिक चिकित्सकों ने कारगर उपाय बताया है।

आयुष विशेषज्ञों के अनुसार आयुर्वेद ग्रंथ से लिया आयुष क्वाथ इम्युनिटी को बढ़ाता है जिससे किसी भी तरह के संक्रमण से बचाव हो सकता है। अगर कोई व्यक्ति संक्रमित होता भी है तो वायरस से लड़ते हुए इम्युनिटी शक्तिशाली हो जाती है और वायरस को निष्क्रिय बनाने लगती है।

आयुष क्वाथ के इस छोटे पाउच में दालचीनी, तुलसी, काली मिर्च और सुंथी का मिश्रण है जोकि शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता (इम्युनिटी) को बढ़ाती है। आयुष मंत्रालय से निर्देश मिलने के बाद एमिल फॉर्मास्युटिकल ने इसे तैयार किया है। उधर आयुष क्वाथ पर वैज्ञानिक अध्ययन के लिए केंद्र सरकार ने बनारस हिंदू विश्वविद्यालय को जिम्मेदारी सौंपी है।

एमिल फॉर्मास्युटिकल के कार्यकारी निदेशक संचित शर्मा ने बताया कि मंत्रालय से दिशा निर्देश मिलने के बाद आयुष क्वाथ का निर्माण शुरू कर दिया था लेकिन इसे हर व्यक्ति तक पहुंचाना एक चुनौती थी इसलिए हमने आयुष क्वाथ को एक पाउच का रूप दिया है ताकि आम से लेकर खास व्यक्ति इसका आसानी से इस्तेमाल कर सकें। महज एक प्याला, इम्युनिटी वाला का टैग भी दिया है।

हाल ही में नीति आयोग के सदस्य और एम्पॉवर्ड ग्रुप-1 के चेयरमैन डॉ. वीके पॉल ने लोगों से अपील करते हुए कहा था कि कोरोना वायरस से बचाव के लिए इम्युनिटी को मजबूत करना बेहद जरूरी है। महामारी के इस संकट से बाहर निकलने के लिए वैज्ञानिकों की सलाह के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने कार्यक्रम 'मन की बात' में देश को संबोधित करते हुए आयुर्वेदिक काढ़ा का सेवन ज्यादा से ज्यादा करने की अपील की थी। अप्रैल माह के आखिरी सप्ताह में आयुष मंत्रालय ने क्वाथ का ज्यादा से ज्यादा निर्माण कराने के लिए राज्यों को आदेश जारी किया था।

ऐसे करें उपयोग :
चाय बनाते वक्त आयुष क्वाथ पाउच को खोलकर डालें। थोड़ी देर गर्म करने के साथ दूध और चीनी स्वादानुसार डालने के बाद इसे उबाल लें। इसके बाद छलनी की मदद से चाय छानने के बाद इसका सेवन कर सकते हैं। दिन में दो से तीन बार इसे ले सकते हैं। गुनगुने पानी के साथ भी आयुष क्वाथ की गोलियां ले सकते हैं। चीनी के अलावा शहद या गुड़ के साथ ही इसका सेवन किया जा सकता है।



Read More
Source Link
Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by CurrentIndia.net. Source: Patrika.com

Related Stories