Pakistan सबसे तेजी से बढ़ती आबादी वाला देश बना, भारत और चीन में घटी प्रजनन दर

Spread the love

इस्लामाबाद। दक्षिण ऐशिया क्षेत्र में सबसे तेजी से जनसंख्या में इजाफा हो रहा है। इसमें सबसे अधिक योगदान पाकिस्तान दे रहा है। अमरीका के निजी गैर सरकारी संगठन यूएस पोपुलेशन रिफरेंस ब्यूरो की रिपोर्ट के अनुसार करीब 22.09 करोड़ की आबादी और प्रति दंपति 3.6 बच्चे की प्रजनन दर के साथ पाकिस्तान (Pakistan) दक्षिण एशिया क्षेत्र का सबसे तेजी से बढ़ती जनसंख्या वाला देश हो गया है।

अफगानिस्तान प्रति दंपत्ति 4.5 बच्चे के साथ सबसे ऊपर है

2020 की विश्व जनसंख्या डाटा शीट के अनुसार संघर्ष प्रभावित अफगानिस्तान प्रति दंपत्ति 4.5 बच्चे के साथ सबसे ऊपर है। हाल ही में एक रिपोर्ट में कहा गया है कि करीब 1.4 अरब आबादी के साथ भारत (India) दुनिया में दूसरी सबसे जनसंख्या वाले देशों में है। उसने अपनी प्रजनन दर घटाकर 2.2 कर ली है।

पाकिस्तानी मीडिया ने एक अध्ययन का हवाला देते हुए कहा कि पाकिस्तान की 3.6 की प्रजनन दर के हिसाब से वहां 19.4 वर्ष में जनसंख्या दोगुनी हो जाती है। देश को अपनी जनसंख्या घटाने के लिए प्रजनन दर को घटाकर दो फीसद प्रतिवर्ष करने की जरूरत है।

दक्षिण एशिया दुनिया में तेजी से बढ़ती जनंसख्या वाले क्षेत्रों में

इससे पहले भी कई अध्ययनों में यह साबित हो चुका है कि दक्षिण एशिया दुनिया में तेजी से बढ़ती जनंसख्या वाले क्षेत्रों में है। इस क्षेत्र में अफगानिस्तान और पाकिस्तान सबसे अधिक तेजी से बढ़ती आबादी वाला देश है। अफगानिस्तान में जनसंख्या की रफ्तार दर पाकिस्तान से काफी अधिक है,वहां प्रति दंपति 4.5 बच्चे की जन्म दर है। मगर यहां पर मृत्युदर और जीवन में अस्थिरता के कारण अफगानिस्तान की जनसंख्या अब भी 3.89 करोड़ रह गई है।

बांग्लादेश की जनंसख्या 2020 में करीब 16.98 करोड़ है

बांग्लादेश की जनंसख्या 2020 में करीब 16.98 करोड़ है और यहां प्रजनन दर 2.3 है। वह इस क्षेत्र में तेजी से बढ़ती जनसंख्या वाले देशों में तीसरे नंबर पर है। उसके बाद मालदीव का स्थान आता है। भारत और नेपाल पांचवें नंबर पर तथा श्रीलंका और भूटान आखिरी नंबर पर है।

2050 में 5.3 अरब होने की उम्मीद

अध्ययन में एशिया को दुनिया में सबसे अधिक आबादी वाला क्षेत्र बन गया है। उसकी जनसंख्या 2020 के 4.6 अरब से बढ़कर 2050 में 5.3 अरब होने की उम्मीद है। इस रिपोर्ट में दुनिया में सबसे अधिक जनसंख्या वाले चीन में जनसंख्या 2050 तक घटने का अनुमान लगाया गया है।

जनसंख्या 1.424 अरब है

उसकी जनसंख्या 1.424 अरब है और उसने अपने यहां प्रजनन दर घटाकर 1.5 कर ली है। रिपोर्ट के अनुसार दुनिया की जनसंख्या वर्तमान करीब 7.8 अरब से 25 फीसदी बढ़कर 2050 में करीब 9.9 अरब हो जाने का अनुमान है।



Read More
Source Link
Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by CurrentIndia.net. Source: Patrika.com

Related Stories