Pakistan: ISI की कड़ी सुरक्षा में रह रहा है 26/11 मुंबई धमाकों का मास्टर माइंड साजिद मीर

Spread the love

इस्लामाबाद। आतंकवादियों का गढ़ बन चुके पाकिस्तान की पोल एक बार फिर से खुली है। बीते दिनों प्रधानमंत्री इमरान खान ने आतंकवादी ओसामा बिन लादेन को शहीद बताकर ये जता दिया कि पाकिस्तान के लिए आतंकवाद एक हथियार है।

अब एक बार फिर से एक चौंकाने वाला खुलासा हुआ है। आतंकियों को पनाह देने से हमेशा इनकार करने वाले पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी ISI की कड़ी सुरक्षा में 26/11 मुंबई धमाकों का मास्टर माइंड साजिद मीर रह रहा है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, साजिद मीर पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी ISI के संरक्षण में रह रहा है।

रिपोर्ट में ये अनुमान लगाया गया है कि मीर रावलपिंडी के गार्डन विला हाउसिंग सोसायटी या लाहौर के अल फैजल टाउन और गंदा नाला इलाके में से किसी एक ठिकाने पर रहता है। साजिद मीर वही शख्स है, जिसने आतंकियों को 26 नवंबर के हमले में मुंबई के चबाड़ हाउस में होल्टबर्ग दंपती को गोली मारने का निर्देश दिया था।

बता दें कि इसी सप्ताह आतंकियों के खिलाफ कार्रवाई न करने और टेरर फंडिंग पर लगाम लगाने में नाकाम रहने पर FATF की ओर से कड़ी फटकार लगाते हुए ग्रे लिस्ट में बरकरार रखा है। अब पाकिस्तान को ब्लैक लिस्ट करने या न करने पर अक्टूबर में फैसला लिया जाएगा। इससे कुछ दिन पहले अमरीका के स्टेट डिपार्टमेंट की एक रिपोर्ट में ये खुलासा किया था कि पाकिस्तान में भारत में हमला करने वाले आतंकी खुलेआम घुम रहे हैं और इस्लाबाद ऐसे आतंकी संगठनों को पनाह देता है जो भारत पर हमला करता है।

मीर लश्कर-ए-तैयबा के लिए करता था काम

बता दें कि साजिद मीर 2010 तक आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा के लिए काम करता था। वह LeT के ऑपरेशन्स चीफ जकी-उर-रहमान लखवी की सिक्यॉरिटी का जिम्मा संभालता था। इतना ही नहीं वह विदेशों में आतंकियों की भर्ती प्रक्रिया को भी देखता था और पाकिस्तान में टेरर कैंप का संचालन भी करता था।

मीर साल लेवल की सुरक्षा घेरे में रहता है, जो कि आमतौर पर ISI राज्य के मुखिया को देती है। भारतीय खुफिया एजेंसियां मीर को ट्रैक कर रही हैं। उसने मुंबई हमलों के बाद प्लास्टिक सर्जरी भी कराई, जिससे की उसकी पहचान न हो सके।

आतंकियों का गढ़ है पाकिस्तान

पाकिस्तान आतंकियों का गढ़ है। 2016 में पठानकोट एयरबेस और 2019 के पुलवामा हमले का मास्टरमाइंड आतंकी मसूद अजहर पंजाब प्रांत के भावलपुर में मरकज-ए-उस्मान-ओ-अली, रेलवे लिंक रोड पर जैश-ए-मोहम्मद के हेडक्वॉर्टर में रहता है। इसी तरह से लश्कर-ए-तैयबा के चीफ हाफिज सईद भी पाकिस्तान में रहता है।

बता दें कि बीते दिनों अमरीका स्टेट डिपार्टमेंट की 'कंट्री रिपोर्ट्स ऑन टेररिज्म' में साल 2019 में आतंकी घटनाओं में पाकिस्तान की भूमिका को उजागर किया है। इस रिपोर्ट में ये साफ-साफ बताया है कि भारत के खिलाफ हथियार उठाने वाले और भारत पर हमला करने वाले आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा और जैश-ए-मोहम्मद जैसे संगठन इस्लामाबाद की धरती से ही ऑपरेट होते हैं। इतना ही नहीं मुंबई धमाकों के 'प्रॉजेक्ट मैनेजर' साजिद मीर और मसूद अजहर जैसे आतंकियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की है, बल्कि ये दोनों पाकिस्तान में आजाद घूम रहे हैं।



Read More
Source Link

Related Stories