Thailand के शहर में बंदरों का आतंक, पर्यटकों की कमी के कारण इन्हें नहीं मिल रहा भोजन

Spread the love

नई दिल्ली। कोरोना वायरस (Coronavirus) के कारण इंसान ही नहीं जानवर भी प्रभावित हुए हैं। लॉकडाउन (Lockdown) की वजह से अर्थव्यवस्था चौपट हो गई है। खासकर, पर्यटन आय पर निर्भर रहने वाले देशों की इकॉनोमी पर बहुत बुरा असर पड़ा है। थाई शहर लोपबुरी में पर्यटकों की कमी ने स्थानीय लोगों के लिए एक बड़ी समस्या पैदा कर दी है। चूंकि COVID-19 के डर से सड़कें खाली हैं, लगभग हर नुक्कड़ पर बंदर नजर आ रहे हैं।

स्थानीय लोगों द्वारा शूट किए गए वीडियो में सड़कों पर घूमते बंदर कारों पर चढ़ते हुए और लोगों से सामान छीनते हुए दिखाई दिए हैं। विशेषज्ञों के अनुसार, वे भोजन की कमी के कारण क्रोधित और परेशान हैं।

आम तौर पर, शहर में बंदरों को यात्रियों से खाना मिल जाया करता था। मगर कोरोना वायरस के कारण यहां पर पर्यटकों का आना कम हो गया है। रिपोर्ट के अनुसार, बीते कुछ दिनों में बंदर बेहद उत्तेजित हो गए हैं।

बंदरों को कई दिनों से खाना नहीं मिल रहा हैं

कई जगहों पर कि बड़ी संख्या में एक गुट के बंदर दूसरे गुट के बंदर से लड़ते हुए दिखाई देते हैं। ये लड़ाई खाने को लेकर हो रही है। बता दें कि कोरोना वायरस के फैलने के डर से लोग बंदर के पास जाने से परहेज कर रहे हैं। ऐसे में थाईलैंड की सड़कों पर रहने वाले बंदरों को कई दिनों से खाना नहीं मिल रहा हैं और बंदर काफी भूखे हैं। जब कभी इन्हें खाना मिलता है तो इनके बीच जंग छिड़ जाती है।

केले लिए लड़ते हुए दिखाई दे रहे हैं

बंदर एक गंभीर समस्या बन चुके हैं क्योंकि वे यहां के निवासियों से सामान चोरी करने की कोशिश कर रहे हैं। अब, शहर के निवासियों ने घर से बाहर निकलना बंद कर दिया है। बाहर जाने ये बंदन इन हमला कर देते हैं। सोशल मीडिया पर साझा किए गए एक अन्य वीडियो में खाद्य संकट की तीव्रता पर प्रकाश डाला गया है, मार्च में शूट किए वीडियो में देखा गया कि बंदरों का एक गुट सिर्फ केले लिए लड़ते हुए दिखाई दे रहे हैं।

यही हाल प्रसिद्ध शहरों में भी देखने को मिल रहे हैं। पयर्टकों की कमी की वजह से यहां के आवारा कुत्तों के साथ पक्षियों को भूख के कारण परेशान होना पड़ रहा है। पहले पयर्टक यहां पर खाने के सामान इन्हें देते थे। इसके कारण इन्हें रोज खाना मिल जाया करता था। अब यहां पर सड़कें खाली हैं।



Read More
Source Link
Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by CurrentIndia.net. Source: Patrika.com

Related Stories