China: राष्ट्रपति Jinping के खिलाफ लोगों ने खोला मोर्चा, Social Media पर पूछ रहे हैं सवाल

Spread the love

बीजिंग। भारत और चीन के सैनिकों ( India China Army ) के के बीच पूर्वी लद्दाख सीमा के गलवान घाटी ( Tension In Galwan Valley ) में बीते 15 जून को हुई हिंसक झड़प के बाद अब चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग ( Chinese President Xi Jinping ) अपने ही देश में सवालों के घेरे में घिरते जा रहे हैं। दरअसल, उस हिंसक झड़प की घटना में भारत के 20 जवान शहीद हुए थे और चीन के 40 से अधिक सैनिक मारे गए थे।

भारत ने अपने शहीद सैनिकों को सम्मान के साथ अंतिम विदाई दी और पार्थिव शरीर को उनके परिजनों तक पहुंचाया। लेकिन चीन में ऐसा कुछ भी नहीं हुआ। चीन सरकार ( Chinese Government ) मारे गए सैनिकों की संख्या और उनकी पहचान को जाहिर नहीं कर रही है। ऐसे में मारे गए सैनिकों के परिजनों में काफी गुस्सा है और उनलोगों ने राष्ट्रपति जिनपिंग के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है।

China को मिलेगा करारा जवाब, भारत ने लद्दाख सीमा पर तैनात किए Air Defence मिसाइल सिस्टम

बता दें कि अमरीका की ब्रेइटबार्ट न्यूज ने अपनी एक रिपोर्ट में बताया है कि चीनी कम्युनिस्ट पार्टी ( Chinese Communist Party ) के फैसले की को लेकर सैनिकों के परिजनों में काफी गुस्सा है और वे परेशान हैं। वे लगातार सोशल मीडिया पर सरकार से सवाल पूछ रहे हैं, लेकिन सरकार लोगों के सवालों का जवाब देने में नाकाम हो रही है।

सैनिकों के नाम उजागर करने की मांग

रिपोर्ट में बताया गया है कि 15 जून को गलवान घाटी में मारे गए चीनी सैनिकों ( Chinese Army ) के कई परिजनों ने चीनी सोशल मीडिया साइट वीबो और अन्य पर राष्ट्रपति शी जिनपिंग के खिलाफ गुस्सा जाहिर कर रहे हैं। सैनिकों के परिजन ये मांग कर रहे हैं कि जितने भी सैनिक मारे गए हैं सभी नाम सार्वजनिक किया जाए।

बता दें कि गलवान घाटी में हुए हिंसक झड़प में भारत के 20 जवान शहीद हुए थे, जबकि चीन के 40 से अधिक सैनिक मारे गए। हालांकि ने अभी तक आधिकारिक तौर पर इसे स्वीकार नहीं किया है। चीन ने सिर्फ इतना स्वीकार किया है कि इस घटना में उनके भी कुछ कमांडर मारे गए हैं।

India-China Tension: रिपोर्ट में दावा, China को जवाब देने के लिए सेना को छूट, बातचीत से नहीं मान रहा Dragon

इस झड़प के बाद चीन के मुखपत्र ग्लोबल टाइम्स ( Global Times ) के एडिटर इन चीफ ने ये माना था कि भारत ने उनके सैनिकों को भी मार गिराया है। इस बाबत उन्होंने ट्वीट भी किया था और बताया था कि चीनी पक्ष के सैनिक भी हताहत हुए हैं।



Read More
Source Link
Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by CurrentIndia.net. Source: Patrika.com

Related Stories