China-Nepal से विवाद के बीच पाक की भारत को चेतावनी, कहा - बुरे होंगे सैन्य दुस्साहस के परिणाम

Spread the love

नई दिल्ली। चीन और नेपाल ( China-Nepal ) के साथ लिम्पियाधुरा-कालापानी-लिपुलेख के मुद्दे पर जारी विवाद लाभ अब पाकिस्तान ( Pakistan ) भारत खिलाफ उठाने में लगा है। यही वजह है कि पाकिस्तान इसकी आड़ में भारत पर कई तरह के बेबुनियाद आरोप लगा रहा है। वह न केवल भारतीय सरहद पर चीन के अतिक्रमण का खुलकर समर्थन कर रहा है बल्कि बुरे अंजाम की भी धमकी दे रहा है।

विवाद की आड़ में पाकिस्तानी सेना के प्रवक्ता मेजर जनरल बाबर इफ्तिकार ( Major General Iftikhar ) ने कहा है कि भारत ने सैन्य दुस्साहस किया तो तो उसे बुरे परिणाम भुगतने होंगे। बाबर ने भारत सरकार ( Government of India ) को नसीहत देते हुए कहा है कि वह आग से न खेले। मेजर जनरल बाबर इफ्तिकार ने मीडिया से बातचीत में भारत पर कश्मीर में मानवाधिकार उल्लंघन (Human rights violation ) करने, कश्मीर में असंतोष दबाने और वहां के युवाओं को प्रताड़ित करने का आरोप लगाया है।

पाक सेना प्रवक्ता ने अपनी खींझ उतारते हुए कहा कि भारत-पाकिस्तान ( India-Pakistan ) के खिलाफ फर्जी फ्लैग ऑपरेशन चलाना चाहता है। इसके लिए वह अभी से भूमिका बना रहा है और पाकिस्तान पर एलओसी से कोरोना संक्रमित आतंकवादियों को भेजने के आरोप लगाए हैं।

Delhi आने वाले यात्रियों को Corona न होने पर भी 7 दिन तक रहना होगा क्वारनटाइन

मेजर जनरल बाबर ने कहा कि भारतीय सैन्य नेतृत्व पाकिस्तान से घुसपैठ की बात कर रहा है जिससे उनकी ही क्षमता पर सवाल खड़े होते हैं। LoC पर तमाम सुरक्षा मानकों और घुसपैठ रोकने के लिए उठाए गए तमाम कदमों के बावजूद कोई दुनिया के सबसे बड़ी सैन्य मौजूदगी वाले इलाके में घुसपैठ कैसे कर सकता है। इसी तरह 5 अगस्त के बाद से भारत ने कश्मीर में जो भी कदम उठाए हैं वे बैकफायर कर गए हैं। सीएए पेश किया गया जिससे इस्लामोफोबिया ( Islamophobia ) की लहर पैदा हुई। भारत सरकार हर स्तर पर असफलता हाथ लगी है।

इतना ही नहीं मौजूदा भारतीय नेतृत्व सभी मुद्दों से ध्यान भटकाने के लिए पाकिस्तान को अपने रोमांच का जरिया बना लेता है। उन्होंने भारत को आगाह करते हुए कहा कि अगर भारत पाकिस्तान की तरफ आगे बढ़ने की कोशिश करेगा तो पाकिस्तान भी पूरी ताकत से जवाब देगा। भारत इस मुगालते में रहने की जरूरत नहीं है। हम तैयार हैं और मुंहतोड़ जवाब देंगे।

प्रकाश जावड़ेकर ने हथिनी की मौत पर केरल सरकार से मांगी रिपोर्ट, रतन टाटा से मेनका गांधी तक ने हत्या माना, कहा - न्याय की जरूरत

बता दें कि पाकिस्तान अपने ही घर में बुरी तरह से घिरा हुआ है। वहां के आर्थिक हालत गर्दिश में हैं। कोरोना वायरस ( Coronavirus ) महामारी से उस पर डिफॉल्टर बनने का खतरा मंडरा रहा है। लेकिन सेना अपने देश की समस्याओं पर ध्यान देने के बजाय भारत के खिलाफ बयानबाजी में व्यस्त है।



Read More
Source Link
Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by CurrentIndia.net. Source: Patrika.com

Related Stories